Tag: safed musli ke laabh

Safed Musli – Safed Musli Benefits सफ़ेद मूसली चूर्ण के फायदे

Safed Musli – Safed Musli Benefits सफ़ेद मूसली चूर्ण के फायदे

Safed Musli – Safed Musli Benefits सफ़ेद मूसली चूर्ण के फायदे

आज IndianHealth में हम एक ऐसी औषधि के बारे में बताएंगे जिसके फायदे जानकर आप हैरान हो जाएंगे। जो लोग इस औषधि के बारे में जानते है वो इससे बहुत फायदा उठाते है। इस औषधि का नाम है सफ़ेद मूसली(Safed Musli), जी हाँ ! सफ़ेद मूसली एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है जो ज़्यादातर यौन क्षमता को बढ़ने के लिए या यौन रोगों के इलाज में इस्तेमाल की जाती है। इसके साथ-साथ ये हमारे थके हुए शरीर को भी एक नयी ऊर्जा प्रदान करता है। इसमें बहुत सारे प्रकृतिक तत्व मौजूद होते है जैसे – Vitamins, Minerals, Fibres, Calcium और Carbohydrates आदि। सफ़ेद मूसली एक बेहतरीन Anti-Oxidant है जो हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता(Immunity) को बढाती है।

Safed Musli Benefits

सफ़ेद मूसली का नियमित सेवन हमे बहुत सारे रोगों से लड़ने के क्षमता प्रदान करता है। यदि किसी के पेशाब में जलन है तो ये उसको ठीक करता है, गठिया के इलाज में सहायक है, कैंसर से लड़ने में और मधुमेह के रोग में भी ये हमारी मदद करता है। सफ़ेद मूसली(Safed Musli) का ज़्यादातर इस्तेमाल यौन रोगों से लड़ने में किया जाता है। ये स्त्री और पुरुष दोनों ही के यौन रोगों के इलाज में सहायक है। इसके साथ साथ जिन महिलाओ को दूध न उतरने की समस्या होती है ये उनके लिए भी बहुत लाभकारी है। इसके साथ-साथ जिन लोगों के बाँझपन(Infertility) की समस्या है ये उनके लिए भी बेहद फायदेमंद है।

आवश्यक सामग्री :

  • सफ़ेद मूसली का चूर्ण
  • दूध
  • इलायची
  • मिश्री


नुस्खा 1 : ये नुस्खा उन लोगो के लिए है जिन्हें पेशाब में जलन की समस्या होती है। इसमें हम एक गिलास दूध में आधा चम्मच सफ़ेद मूसली का चूर्ण और एक इलायची डालकर उस दूध को उबलेंगे। इसके बाद आप इसका सेवन करें। सिर्फ 4 से 5 दिनों में इस समस्या से आपको हमेशा के लिए छुटकारा मिल जाएगा।

नोट : सिर्फ हलके या पतले दूध का इस्तेमाल करें। यदि भैंस या पैकेट का दूध इस्तेमाल कर रहे हों तो उसमे थोड़ा पानी मिला लें।

नुस्खा २ : ये नुस्खा हमारे गुप्त रोगों के इलाज के लिए या यौन शक्ति को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसे बनाने के लिए आप एक गिलास दूध में आधा चम्मच सफ़ेद मूसली का चूर्ण, एक इलायची और 1 चम्मच मिश्री का पाउडर मिलाए। अब इस मिश्रण को आप आचे से उबाल लें और इसका सेवन करें।

आप इसे दिन में किसी भी वक़्त पी सकते है या आप चाहें तो रात में सोने से पहले भी इसका सेवन कर सकते है। दोस्तों हमे सफ़ेद मूसली के चूर्ण में इसकी मात्रा का ख़ास खयाल रखना है। यदि आप इसे दिन में एक बार इस्तेमाल कर रहे है तो 4 से 5 ग्राम ही इसका सेवन करे या दिन में एक से ज़्यादा बार इसका इस्तेमाल कर रहे है तो 2 से 3 ग्राम इस चूर्ण का इस्तेमाल करें।
यदि किसी का Permanent इलाज चल रहा है तो इस नुस्खे का इस्तेमाल न करें या किसी डॉक्टर से सलाह लेकर इसका इस्तेमाल करे। बेहतर है इलाज के बाद ही इसका प्रयोग करें। तो दोस्तों अपने नियमित जीवन में सफ़ेद मूसली का प्रयोग करें और आप इसके अद्भुत फायदे होते हुए देखेंगे।